ऋतुपर्ण (अयोध्या के सूर्यवंशी राजा)

मैथिली विकिपिडियासँ, एक मुक्त विश्वकोश
Jump to navigation Jump to search

ऋतुपर्ण अयोध्या के एक सूर्यवंशी राजा छी। ऋतुपर्ण अयोध्याक एक पुराकालीन राजा छल। इनकर पिताक नाम सर्वकाम छल। ई अक्षविद्यामे अत्यन्त निपुण छल। जुवामे राज्य हारि जाएके उपन्रात अपन अज्ञातवासकालमे नल 'बाहुक' नामसँ एकर नजदिक सारथिक रूपमे रहल छल। ओ नलके अपन अक्षविद्या देलक तथा नल सेहो अपन अश्वविद्या इनका देलक।

नलवियुक्ती दमयंतीक जखन अपन चर पर्णादद्वारा पता चलल की नल ऋतुपर्ण के सारथि के रूपमे रहि रहल अछि तँ ओ ऋतुपर्णक संदेशा भेजलक, नलक किछ भी पता न लगैके कारण हम अपन दोसर स्वयमवर काइल सूर्योदयक समय करि रहल छी, अत: अहाँ समय रहिते कुंडनिपुर पधारव। नल अपन अश्वविद्याक बलसँ ऋतुपर्णक ठीक समय पर कुन्डनिपुर पहुँचा देने तथा ओतय नल आ दमयम्तीक मिलन भेल।

बौधायन श्रौत्रसूत्र (२०,१२)क अनुसार ऋतुपर्ण भंगाश्विनक पुत्र तथा शफालक राजा छल। वायु, ब्रह्म तथा हरिवंश इत्यादि पुराणसभमे ऋतुपर्णक अयुतायुपुत्र बताएल गेल अछि।