बैश्य

मैथिली विकिपिडियासँ, एक मुक्त विश्वकोश
Jump to navigation Jump to search

हन्दू सभक जाति व्यवस्था के अंतर्गत वैश्य वर्णाश्रम क तेसर मुख्य जाति अछि । यी वर्ग में मुख्य रूप स भारतीयनेपाली समाजक किसान, पशुपालक आर व्यापारी समुदाय शामिल अछि ।

अर्थक दृष्टि स यी शब्द कs उत्पत्ति संस्कृत स भेल अछि जकर मूल अर्थ "बसना" होएत अछि । मनु कs मनुस्मृति के अनुसार वैश्यों कs उत्पत्ति ब्रम्हा जी के उदर यानि पेट स भेल छल ।

एकरो देखू[सम्पादन करी]

ब्रम्हा जी स जन्मल ब्राह्मन भेल , बिष्णु स जन्मल बैश्य आर शंकर जी स जन्मल क्षत्रिय, तैदुवारे आईयो ब्राह्मन अपन मात्ता सरसवती, बैश्य लकश्मी, क्षत्रिय मा दुर्गे कs पुजा करएत अछि ।


बाहरी जड़ी सभ[सम्पादन करी]