रवीन्द्र जैन

मैथिली विकिपिडियासँ, एक मुक्त विश्वकोश
Jump to navigation Jump to search
रवीन्द्र जैन
रवीन्द्र जैन गीत गाबैत
जन्म (१९४४-०२-२८) २८ फरबरी १९४४ (उमर ७५)
मृत्यु ९ अक्टूबर २०१५
रोजगार सङ्गीतकार, गीतकार
कार्यकाल १९७४ सँ
जिवनसाथी दिव्या जैन
सन्तान आयुष्मान जैन

रवीन्द्र जैन (२८ फरवरी १९४४- ९ अक्टूबर, २०१५) हिन्दी फ़िल्मसभके जानल-मानल सङ्गीतकार आर गीतकार छल। रवीन्द्र जैन अपन फ़िल्मी सफ़रक शुरुआत फ़िल्म सौदागर सँ केएने छल जहिमे गीत सहो लिखने छल आर स्वरबद्ध सहो केएने छल।


जीवन[सम्पादन करी]

रवीन्द्र जैनक जन्म २८ फरवरी १९४४ मे उत्तर प्रदेशक अलीगढ़मे भेल छल।[१] ओ सात भाई-बहिन छल। वर्ष १९७२ मे अपन फिल्मी करियरक शुरुआत केएने छल।[२] जन्म से अंधा[३] भेलाके बाधो हिम्मत पूर्वक कारकिर्दी केलक शरुआत करsके बाद हिन्दी फ़िल्मसभमे गाना गाबिके मशहूर बनि गेल। ओ बलीवुड कs सफर शुरू करै सँ पहिल जैन भजन गाबैत छल। बाध मे हिन्कर हिन्दी फ़िल्मसभमे गीत लोकप्रिय भेल आर बहुतो रास हिट गीतसभ देल्थि।[४] ९ अक्टूबर, २०१५ शुक्रदिन मुम्बईमे हुन्कर निधन भsगेल।[५] रविन्द्र जैन कs भारतीय सिनेमा जगतमे किछ सबसँ खूबसूरत, कर्णप्रिय आर भावपूर्ण गीतसभक लेल हुन्का हरदम याद राखल जाइत।

रवीन्द्र जैनके लोकप्रिय गीत[६][सम्पादन करी]

  • गीत गाता चल, ओ साथी गुनगुनाता चल (गीत गाता चल-1975)
  • जब दीप जले आना (चितचोर-1976)
  • ले जाएंगे, ले जाएंगे, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे (चोर मचाए शोर-1973)
  • ले तो आए हो हमें सपनों के गांव में (दुल्हन वही जो पिया मन भाए-1977)
  • ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिए (पति, पत्नी और वो-1978)
  • एक राधा एक मीरा (राम तेरी गंगा मैली-1985)
  • अंखियों के झरोखों से, मैंने जो देखा सांवरे (अंखियों के झरोखों से-1978)
  • सजना है मुझे सजना के लिए (सौदागर-1973)
  • हर हसीं चीज का मैं तलबगार हूं (सौदागर-1973)
  • श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम (गीत गाता चल-1975)
  • कौन दिशा में लेके (फिल्म नदियां के पार)
  • सुन सायबा सुन, प्यार की धुन (राम तेरी गंगा मैली-1985)
  • मुझे हक है (विवाह)।

पुरस्कार एवं सम्मान[सम्पादन करी]

  • वर्ष २०१५ मे हुन्का पद्मश्री पुरस्कार सँ सम्मानित कएल गेल छल।[७]


सन्दर्भ सामग्रीसभ[सम्पादन करी]

बाह्य जडीसभ[सम्पादन करी]

इन्टरनेट चलचित्र भण्डारणमे रवीन्द्र जैन

एहो सभ देखी[सम्पादन करी]