कुम्भ मेला

मैथिली विकिपिडियासँ, एक मुक्त विश्वकोश
Jump to navigation Jump to search
हरिद्वारक कुम्भ मेला (2010) के दौरान गंगा किनार स्नान घाट पर श्रद्धालु
२००१ कs प्रयाग कुम्भ मेला के दृष्य

कुंभ पर्व हिंदू धर्मक एक महत्वपूर्ण पर्व छि, जाहिमे करोड़ों श्रद्धालु कुंभ पर्व स्थल- हरिद्वार, प्रयाग, उज्जैननासिक- में स्नान करैत अछि । अहिमे सs प्रत्येक स्थान पर प्रति बारमाह वर्ष मs यी पर्वक आयोजन होएत अछि । हरिद्वार आ प्रयाग में दुटा कुंभ पर्व के बीच छह वर्षक अंतराल में अर्धकुंभ भी होएत अछी । २०१३क कुम्भ प्रयाग में भेल छल ।

खगोल गणना के अनुसार यी मेला मकर संक्रांति के दिन प्रारम्भ होएत अछी, जब सूर्य आ चन्द्रमा, वृश्चिक राशी में और वृहस्पति, मेष राशी में प्रवेश करैत अछी । मकर संक्रांति के होइ बाला यी योग कs "कुम्भ स्नान-योग" कहल जाएत अछी । यी दिन विशेष मंगलिक मानल जाएत अछी ।