युधिष्ठिर

मैथिली विकिपिडियासँ, एक मुक्त विश्वकोश
Jump to navigation Jump to search
युधिष्ठिर
Yudhishthira
छत्रपति महाराज
बिरला मन्दिर, दिल्ली मे एक शैल चित्र
बिरला मन्दिर, दिल्ली मे एक शैल चित्र
पुर्वाधिकारी धृतराष्ट्र
परीक्षित
सङ्गिनी द्रौपदी
वंश पाण्डव, कुरुवंश
पिता पाण्डु
माता कुन्ती

प्राचीन भारतक महाकाव्य महाभारतक अनुसार युधिष्ठिर पाँच पाण्डवसभमे सभसँ पैग भाए छल। ओ पाण्डुकुन्तीक पहिल पुत्र छल। युधिष्ठिरक धर्मराज (यमराज) पुत्र सेहो कहल जाएत अछि। ओ भाला चलाबऽमे निपुण छल आ ओ कखनो झूठ नै बाजैत छल। [१]


व्युत्पत्ति[सम्पादन करी]

जन्म आ सङ्गोष्ठी[सम्पादन करी]

विवाह आ सन्तान[सम्पादन करी]

इन्द्रप्रस्थ[सम्पादन करी]

राजसुयाक प्रदर्शन केनाए[सम्पादन करी]

राज्य गुमेनाए आ निर्वासन[सम्पादन करी]

इन्द्रप्रस्थ आ कुरुक्षेत्र युद्ध पर लौटनाए[सम्पादन करी]

सेवानिवृत्ति आ स्वर्गक उन्नयन[सम्पादन करी]

नरकमे धैर्यक परिक्षण[सम्पादन करी]

युधिष्ठिरक अभिशाप[सम्पादन करी]

कौशल[सम्पादन करी]

सन्दर्भ सामग्रीसभ[सम्पादन करी]

  1. "महाभारतक ओ १० पात्र जिनका बहुत कम लोग जनैत अछि!", दैनिक भास्कर, २७ दिसम्बर २०१३, मूलसँ २८ दिसम्बर २०१३-के सङ्ग्रहित। 

बाह्य जडीसभ[सम्पादन करी]

एहो सभ देखी[सम्पादन करी]