कपुर

मैथिली विकिपिडियासँ, एक मुक्त विश्वकोश
एतय जाए: भ्रमण, खोज
कपुर
Camphor
जापानक एक १००० वर्ष पुरान कपुरक वृक्ष
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: वनस्पति
(श्रेणीविहीन): एन्जियोस्पर्म
(श्रेणीविहीन): मैग्नोलिड
गण: लरेलिस
परिवार: लरेशी
वंश: सिन्नामोमम
प्रजाति: C. camphora
वैज्ञानिक नाम
सिन्नामोमम क्याम्फोरा
(एल.) सीब.

कपुर (संस्कृत : कर्पूर) उड़नशील वानस्पतिक द्रव्य छी। ई उज्जर रंगक मोमक जेहन एक पदार्थ छी। एहिमे एक तेज गन्ध होइत अछि । कपुरक संस्कृतमे कर्पूर, फारसीमे काफुर आ अंग्रेजीमे क्याम्फर कहल जाइत अछि ।

कपूर उत्तम वातहर, दीपक और पूतिहर होता है। त्वचा और फुफ्फुस के द्वारा उत्सर्जित होने के कारण यह स्वेदजनक और कफघ्न होता है। न्यूनाधिक मात्रा में इसकी क्रिया भिन्न-भिन्न होती है। साधारण औषधीय मात्रा में इससे प्रारंभ में सर्वाधिक उत्तेजन, विशेषत: हृदय, श्वसन तथा मस्तिष्क, में होता है। पीछे उसके अवसादन, वेदनास्थापन और संकोच-विकास-प्रतिबंधक गुण देखने में आते हैं। अधिक मात्रा में यह दाहजनक और मादक विष हो जाता है।

प्रकार[सम्पादन करी]

कपूर तीन विभिन्न वर्गों की वनस्पति से प्राप्त होता है। इसीलिए यह तीन प्रकार का होता है :

(१) चीनी अथवा जापानी कपूर,

(२) भीमसेनी अथवा बरास कपूर,

(३) हिन्दुस्तानी अथवा पत्रीकपूर।

उपर्युक्त तीनों प्रकार के कपूर के अतिरिक्त आजकल संश्लिष्ट (synthesized) कपूर भी तैयार किया जाता है।

जापानी कपूर[सम्पादन करी]

भीमसेनी कपूर[सम्पादन करी]

पत्री कपूर[सम्पादन करी]

भारतमे कम्पोजिटी (Compositae) कुल की कुकरौंधा प्रजातिसभ (Blumea species)सँ प्राप्त कएल जाइत अछि, जे पर्णप्रधान शाक जातिक वनस्पतिसभ होइत अछि ।

एहो सभ देखी[सम्पादन करी]